केंद्र सरकार से कर्मियों को मिले बोनस के बाद जागी पेंशनर्स की उम्मीद, दीपावली पर मिल सकता है तोहफा

केंद्र सरकार से कर्मियों को मिले बोनस के बाद जागी पेंशनर्स की उम्मीद, दीपावली पर मिल सकता है तोहफा

केंद्र सरकार से कर्मियों को मिले बोनस के बाद जागी पेंशनर्स की उम्मीद, दीपावली पर मिल सकता है तोहफा

अब पेंशन पाने वाले करोड़ों पेंशनर को दीपावली पर बढ़ी पेंशन राशि की आस जग गई है। उनका कहना है यदि सरकार पेंशन की राशि बढ़ा देती है तो निश्चित तौर पर यह पेंशनर्स के लिए सबसे बड़ा तोहफा होगा।

increase-in-amount-of-pension-on-diwali

कानपुर, जेएनएन। केंद्र सरकार ने लाखों कर्मियों को कुछ दिनों पहले ही बोनस का तोहफा दिया। इससे अब पेंशन पाने वाले करोड़ों पेंशनर को दीपावली पर बढ़ी हुई पेंशन राशि की आस जग गई है। उनका कहना है, यदि सरकार पेंशन की राशि बढ़ा देती है, तो निश्चित तौर पर यह पेंशनर्स के लिए सबसे बड़ा तोहफा होगा। हालांकि अभी तक पेंशनर को न्यूनतम एक हजार रुपये पेंशन मिल रही है। इसमें वह पेंशनर ही शामिल हैं, जिन्होंने 58 साल की उम्र से पेंशन ली है। वहीं जिन्होंने 50 से 58 साल के बीच पेंशन ली है, उन्हेंं उक्त राशि में चार फीसद की कटौती से पेंशन दी जा रही है। अब सरकार ने संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट पर पेंशन की न्यूनतम राशि दो से तीन हजार रुपये करने के संकेत दिए हैं। हालांक अभी किसी तरह का अंतिम फैसला नहीं हुआ है, लेकिन श्रम मंत्रालय में इस मामले को लेकर हलचल तेज हो गई हैं।

कोश्यारी समिति की रिपोर्ट में था, कि साढ़े तीन हजार रुपये न्यूनतम पेंशन हो: वर्ष 2012 में कोश्यारी समिति ने पेंशन को लेकर जो रिपोर्ट तैयार की थी, उसमें साढ़े तीन हजार रुपये न्यूनतम पेंशन किए जाने की बात कही थी। हालांकि सरकार ने उस रिपोर्ट को नजरअंदाज कर दिया। वहीं अगर समिति की रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा समय में सरकार पेंशन दे दे तो हर पेंशनर को आठ से नौ हजार रुपये तक पेंशन मिल सकती है।

Read also |  SB Order No. 31/2020: Clarification on physical presence of witnesses at the time of acceptance of deceased claim case

एक नजर पेंशनर से जुड़े आंकड़ों पर:

देशभर में पेंशनर की संख्या: करीब एक करोड़ 25 लाख

प्रदेश में पेंशनर की संख्या: लगभग चार लाख

कानपुर क्षेत्र में पेंशनर की संख्या: 60000

केंद्र सरकार अगर न्यूनतम पेंशनर तीन हजार रुपये कर देती है तो इस फैसले का स्वागत है. साथ ही यह मांग है. कि सरकार कोश्यारी समिति की रिपोर्ट को अमल कराए। जिससे सभी पेंशनर को आठ से नौ हजार रुपये तक पेंशन मिल सके। महंगाई को देखते हुए यह जरूरी भी है.

Source; jagran.com

COMMENTS